रिश्तों में मजबूती, रिश्तों की मजबूती

रिश्तों में मज़बूती का नुस्खा

आप अपने साथी के लिए जो छोटे-छोटे काम करते हैं, उसका आपकी खुद की भलाई पर और लंबे समय में आपके रिश्तों में मजबूती पर बड़ा प्रभाव पड़ता है।

नेटफ्लिक्स पर लिटिल थिंग्स एक से अधिक कारणों से ट्रेंड कर रहा है, इसका एक बड़ा कारण यह है कि आप उससे खुद को जुड़ा हुआ महसूस कर पाते हैं। कहानी काव्या कुलकर्णी और ध्रुव वत्स के जीवन के इर्द-गिर्द घूमती है, एक जोड़ा जो अपने रिश्ते में आने वाले उतार-चढ़ाव का सामना करते हुए अपने जीवन में आगे बढ़ता है। वे दोनों जितनी जल्दी बहस में पड़ जाते हैं और लड़ाई करने लगते हैं, उतनी ही आसानी से मान भी जाते हैं। छोटे पर्दे पर दिखाई जाने वाली लिटिल थिंग्स श्रृंखला की लोकप्रियता यह बताती है कि जीवन में ये छोटी-छोटी चीज़ें ही हैं जो हमारे रिश्तों में मजबूती के साथ इसे बांधकर रखती हैं।

केवल टेलीविजन पर ही नहीं, बल्कि वास्तविक जीवन में भी, हमारे साधारण कार्य हमारे किए हुए बड़े-बड़े कामों से भी अधिक मायने रख सकते हैं। हो सकता है वे हमें देखने में महत्वहीन लगे लेकिन वे रिश्तों को टूटने से बचाते हैं। छोटी-छोटी चीज़ें जैसे एक-दूसरे की तारीफ करना, हर सुबह एक-दूसरे को गुड मॉर्निंग कहना, सोने जाने से पहले शुभ रात्रि बोलना, अपने साथी से पूछना कि उसका वह दिन कैसा रहा, साथ मिलकर कुछ मजेदार करना- ये सब ऐसी चीज़ें हैं जो वास्तव में एक रिश्तों में मजबूती लाती है।

अब आप पूछ सकते हैं कि यह कैसे काम करता है। दरअसल ऐसा करने से आप दिन-प्रतिदिन अपने साथी को यह महसूस करवाते हैं कि वह आपके जीवन में कितना मायने रखता है और यही बात आपके रिश्तों में मजबूती के लिए ज़रूरी है। एक अध्ययन से पता चलता है कि “जो लोग रोज़मर्रा के जीवन में प्यार और अच्छे संबंधों का अगर थोड़ा भाग भी अनुभव करते हैं तो उनमें मनोवैज्ञानिक स्वास्थ्य का स्तर काफी अच्छा होता है और उनके जीवन में एक उद्देश्य और आशावादी भावनाएं होती हैं।”

इसके अलावा आप अपने साथी के लिए जो छोटी-छोटी चीज़ें करते हैं, वह आपके खुद के स्वास्थ्य पर और आने वाले समय में आपके रिश्तों में मजबूती पर एक बड़ा और अच्छा प्रभाव डाल सकती है। इन छोटी बातों से ही आपके साथी को पता चलता है कि उन्हें देखा, सुना और समझा जाता है और आपका ध्यान उन पर है। यहां कुछ छोटी-छोटी चीज़ें बताई गई हैं जो आप अपने साथी के लिए कर सकते हैं और जो आपके रिश्तों में मजबूती के साथ स्वस्थ और खुशहाल बना सकती है।

तारीफ करें

जब आप अपने साथी के साथ लंबे समय तक रहने लगते हैं तो आप उन्हें हल्के में लेना शुरू कर देते हैं। आपको साथ रहते हुए बहुत समय हो जाता है तो आपको अपने साथी की प्रशंसा और तारीफों को करने की ज़रूरत महसूस नहीं होती लेकिन उन्हें पता होना चाहिए कि आपके जीवन में वे कितना महत्व रखते हैं। हालांकि यदि आप चाहते हैं कि आपका रिश्ता टिका रहे, तो समय-समय पर एक-दूसरे की तारीफ करना ज़रूरी है। जब आप उन्हें बताते हैं कि वे आपके लिए कितने खास हैं, तो आप उन्हें अच्छा महसूस कराते हैं और अपने जीवन में उनकी उपस्थिति को स्वीकार करते हैं। यहां तक ​​​​कि अगर आपका साथी यह बात बहुत अच्छे से जानता है कि आप उनसे प्यार करते हैं, तब भी आपसे उन शब्दों को सुनकर आपके साथी की उस भावना की पुष्टि होती है।

उपलब्धियां सेलिब्रेट करें 

जब आपके साथी को काम पर पदोन्नत किया जाता है तो आप उन्हें उनकी उपलब्धि के लिए कुछ सार्थक उपहार देकर अपनी ख़ुशी को जाहिर कर सकते हैं या उनके इस मौके को सेलिब्रेट करने के लिए एक छोटे उत्सव का आयोजन कर सकते हैं जो वास्तव में आपके रिश्तों में मजबूती ला सकता है। इस तरह के हाव भाव बताते हैं कि आप अपने साथी (पार्टनर) की सफलता को भी उतनी ही गंभीरता से लेते हैं, जितनी की अपनी। साइकोलॉजी टुडे में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार : “जो लोग अपने साथी की उपलब्धियों के लिए सबसे अधिक उत्साह दिखाते हैं, उनके रिश्ते में कम संघर्ष होता है।” यह छोटी सी बात आपके रिश्तों में मजबूती के लिए काफी मदद कर सकती है।

आभार व्यक्त करें और माफी भी मांगे 

धन्यवाद कहना कोई कठिन काम नहीं है फिर भी बहुत से लोग अपने अंतरंग संबंधों में इसे कोई महत्त्व नहीं देते हैं। प्रशंसा को न व्यक्त करने से समय के साथ रिश्तों में मजबूती की बजाय खटास आ सकती है। अपने साथी की तारीफ न करना कभी-कभी इस हद तक नाराजगी का कारण बन सकता है कि जिसके नकारात्मक परिणाम हो सकते हैं। अपने प्रियजनों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त करने के लिए किया गया सचेत प्रयास उन्हें महसूस कराता है कि वे आपके जीवन में खास है और उनकी फ़िक्र करते हैं। अपना आभार व्यक्त करने के लिए आपको किसी विशेष अवसर की प्रतीक्षा करने की आवश्यकता नहीं है। आप उन्हें बस इसी बात के लिए धन्यवाद कह सकते हैं कि उन्होंने आपकी सर्दी से पीड़ित होने पर देखभाल की या फिर इसलिए कि वह वर्षों से सिर्फ आपके साथ है।

किसी ने कहा है, माफी एक ऐसे इत्र की तरह है जो एक बिगड़े पल को एक अच्छे समय में बदल सकता है। अंतरंग संबंधों में माफी के महत्व पर पर्याप्त ज़ोर नहीं दिया जाता है। गलत होने पर सॉरी कहना सिर्फ ‘एक अच्छा आइडिया’ नहीं है, बल्कि अगर आप चाहते हैं कि आपका रिश्ता मजबूत हो तो सॉरी बोलना ज़रूरी है। भले ही लोग जानते हैं कि उन्हें माफी मांगनी चाहिए, लेकिन कभी-कभी उन्हें यह कहना अजीब लग सकता है। लेकिन अपने साथी के सामने अपनी गलती को खुले तौर पर स्वीकार नहीं करने से उन्हें ऐसा लग सकता है कि आप उन्हें हल्के में ले रहे है और उनकी भावनाओं को कोई क़द्र नहीं करते हैं, भले ही इस बात में कोई सच्चाई न हो। दिल से माफी मांगने से गहरे से गहरे भावनात्मक घाव भी भर जाते हैं।

बाहर जाकर एकदूसरे के साथ समय बिताएं

कई जोड़ों के लिए, शादी होने के बाद नियोजित तिथियों पर एक साथ समय बिताना उनकी प्राथमिकता की सूची में नीचे चला जाता है। और कुछ मामलों में तो यह पूरी तरह से बंद हो जाता है। चूंकि आप पहले से ही एक साथ इतना समय बिता रहे हैं, तो आपको डेट नाइट की आवश्यकता क्यों है? रिश्तों में मजबूती के लिए आप अपने रिश्ते के उन शुरुआती दिनों के बारे में सोचें जब आप अपने साथी से मिलने के लिए अच्छे से तैयार होते थे और एक-दूसरे को जितनी बार हो सके देखने के अलग-अलग तरीके ढूंढ़ते थे। यह आपको और आपके साथी को करीब ले आया। साथ रहने के वर्षों बाद भी रात को बाहर जाकर एक-दूसरे के साथ समय बिताने को प्राथमिकता देना आपको उन दिनों में वापस ले जाएगा, जिससे आप एक जोड़े के रूप में बंधे थे।

प्यार का इज़हार करें  

हाथ पकड़ना, गले लगना, ठंड के दिन एक कप कॉफी के साथ एक-दूसरे को छूना आदि ऐसी छोटी चीज़ें हैं जो आपको अपने साथी के लिए अपने प्यार का इजहार करने में मदद करती हैं। स्नेह व्यक्त करने के ये शांत, सरल तरीके आपके साथी को बताते हैं कि आप उनकी आज भी वैसी ही परवाह करते हैं जैसे आप पहली बार मिलने पर करते थे। जब आपका जीवन साथी अच्छा महसूस न कर रहा हो तो आपका एक आलिंगन उसके मूड और मिज़ाज को बेहतर कर सकता है। स्नेह का प्रदर्शन आपके बंधन को सभी बाधाओं के बावजूद भी मजबूत करता है।

अपने साथी की बातों को सुनें

रिश्तों में मजबूती के लिए जब आप अपने साथी को ‘सुनते’ हैं तो वास्तव में आप उनके विचारों और भावनाओं को बेहतर ढंग से समझ सकते हैं। इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप किसी मुद्दे को सुलझाने में उनकी मदद कर रहे हैं या बस अपने जीवनसाथी के गुजरे हुए बुरे दिन के बारे में सुन रहे हैं, उन्हें सुनना महत्वपूर्ण है। अपने साथी की बात को सक्रिय रूप से सुनना, उन्हें यह बताने का एक तरीका है कि वो आपके लिए महत्वपूर्ण हैं।

X

आनंदमय और स्वस्थ जीवन आपसे कुछ ही क्लिक्स दूर है

सकारात्मकता, सुखी जीवन और प्रेरणा के अपने दैनिक फीड के लिए सदस्यता लें।