एक्स पार्टनर, प्रेम लघुकथा

एक्स पार्टनर को आज भी करते हैं मैसेज? जानें आगे बढ़ने का तरीका

लंबा रिश्ता यदि खत्म हो तो स्वाभाविक है कि काफी निराशा होती है। यह कभी-कभी जीवन में बेहतरी के लिए ज़रूरी भी है। इससे सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ने की एक दिशा मिलती है। इसलिए पुराने रिश्तों को भूलकर जीवन में आगे बढ़ें और सुकून महसूस करें।

सभी के जीवन में कोई-न-कोई खास ज़रूर होता है। लंबे समय तक साथ रहने के बाद एक दिन अचानक उसके चले जाने से एक्स पार्टनर को भूल पाना आसान नहीं होता है। दिनभर आप बिस्तर पर यूं ही पड़े रहते हैं। यहां तक कि आपकी अपनी फेवरेट मूवी देखने की इच्छा और गर्म चॉकलेट कॉफी की हल्की भाप भी आपकी आत्मा को जगाने में विफल हो जाती है। इधर, आपका मन एक्स पार्टनर के साथ बिताए पलों को बार-बार याद कर आपको दुखी करता है। सिवाय अपने आपको कोसने, गुस्सा करने और निराशा के भाव के अलावा कुछ उपाय नहीं सूझता है। भले ही आपका दिमाग जानता है कि आपके रिश्ते अब खत्म हो गए हैं। बावजूद इसके आपका मन उम्मीद छोड़ने व जीवन में आगे बढ़ने की कोशिश नहीं कर पाता है।

एक्स पार्टनर के साथ लंबा रिश्ता खत्म होने का हश्र एक कड़वा अनुभव हो सकता है। आपकी दुनिया टूटने की दहलीज पर होगी और आप हैं कि एक्स पार्टनर को याद करने में ही अपनी सारी एनर्जी बर्बाद कर रहे होंगे। ऐसी स्थिति में आप खुद को इतना कमजोर बना देंगे कि आप बिस्तर से उठ पाने की भी नहीं सोच सकते, ताकि अपने रोज़मर्रा के काम को अकेले पूरा कर सकें। लंबे समय से आपके जीवन का हिस्सा रहे किसी व्यक्ति से खुद को अलग करना कोई आसान काम नहीं है। लंबे रिश्ता में रहने के बाद ब्रेकअप आपकी पूरी ज़िंदगी को बेपटरी कर सकता है। यह स्थिति आपकी नींद, ऊर्जा, भूख और आपका पूरा शारीरिक सुकून और स्वास्थ्य को प्रभावित कर सकती है।

भले ही आपको लंबे रिलेशनशिप के खत्म होने पर बहुत ही दुख व कष्ट झेलना पड़ा हो। उसे फिर से ठीक कर पाना बहुत मुश्किल है। आपके पास आगे बढ़ने के अलावा कोई रास्ता नहीं है। एक्स पार्टनर को भूलना थोड़ा कठिन है और उस पीड़ा से उबरने में समय लग सकता है। उन बीते दिनों में ही खुद को कैद करके रखना और खुद को कोसते रहना भी अच्छा नहीं है।

ब्रेकअप के बाद आप कितना भी कमजोर और दुखी महसूस करें, लेकिन खुद को मोटिवेट करने और अच्छा महसूस कराने का भी तरीका है। ऐसे में जाने कुछ तरीकों के बारे में जिसकी मदद से आप अचानक होने वाले ब्रेकअप के आघात से निजात पा सकते हैं। साथ ही एक नई ज़िंदगी के लिए बेहतर शुरुआत कर सकते हैं।

सच्चाई को स्वीकार करें 

लंबा रिश्ता के खत्म होने के बाद अचानक ब्रेकअप से उबरना काफी पीड़ादायक होता है। इस स्थिति से बाहर आने में खुद को रोकने पर और अधिक दुख हो सकता है। सच्चाई यह है कि आपका दिमाग अक्सर इस बात को मानने से इनकार कर देता है कि सब कुछ खत्म हो चुका है। ऐसा इसलिए, क्योंकि आप यह उम्मीद करने लगते हैं कि एक्स पार्टनर एक न एक दिन ज़रूर वापस आएगा। इस तरह आप अपना अधिकतर समय अपने एक्स पार्टनर के बारे में सोचने में ही बिता देते हैं। रिश्ते खत्म होने पर शांत मन से उन कारणों पर विचार करें, जिसकी वजह से ऐसा हुआ है। उन कारणों को अपने दिलो-दिमाग में हमेशा के लिए बैठा लें, ताकि आगे इस स्थिति का सामना न करना पड़े। इस सच्चाई को स्वीकार करने में जितना वक्त लगाएंगे उतना ही ब्रेकअप से होने वाले कष्ट से उबरने में आपको परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

नकारात्मक विचारों को खत्म करें

जब आप किसी के साथ लंबे समय तक रहते हैं और उसके साथ ही भविष्य में जीवन बिताने के ख्वाब बुनने लगते हैं। अचानक वह व्यक्ति आपके जीवन से चला जाता है, तो सारे सपने धरे के धरे रह जाते हैं। इस स्थिति में आप कुछ नहीं कर पाते और खुद को ही दोषी मानने लगते हैं। इस तरह आपका दिमाग एक्स पार्टनर के चले जाने से नकारात्मक विचारों से घिर जाता है। आप खुद के ही दुश्मन बन जाते हैं। एक बुरी बात है कि लंबा रिश्ता के खत्म होने के बाद नकारात्मक विचारों के जंजाल में फंसने से रोक पाना मुश्किल हो सकता है। लेकिन, अच्छी बात यह है कि इन तमाम विपरीत परिस्थितियों के बावजूद आपमें वह सामर्थ्य है कि आप उन नकारात्मक विचारों से बाहर आ सकते हैं और खुद को अच्छा महूसस करा सकते हैं। खुद को नकारात्मक माहौल में जाने देने की बजाय अपने आपको प्रेरित और प्रोत्साहित करें। आप क्या हैं और कितने योग्य हैं, इन बातों से खुद को अवगत कराएं। हालांकि, कभी-कभी आप अपने विचारों को नियंत्रित नहीं कर सकते हैं। फिर भी निश्चित रूप से आप अपनी सकारात्मक सोच की बदौलत स्थिति पर काबू पा लेंगे।

अपने करीबी और दोस्तों पर विश्वास जताएं

किसी रिश्ते के लिए विकल्पों को बंद करने पर स्थिति और तनावपूर्ण हो सकती है। वो भी ऐसे वक्त में जब आप ब्रेकअप की पीड़ा के दौर से गुजर रहे हो। ब्रेकअप कई निगेटिव इमोशन को जगाता है। इस भावनात्मक तनाव का असर शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर भी पड़ सकता है। यहां तक कि ब्रोकेन हार्ट सिंड्रोम भी हो सकता है। इस स्थिति में यह स्वाभाविक है कि आप या तो वैरागी हो जाएंगे या सामाजिक मेलजोल बढ़ाने से परहेज करेंगे। फिर भी आप अपने परिवार के लोगों और दोस्तों के साथ अपनी फीलिंग को शेयर करके आसानी से इससे बाहर आ सकते हैं। यह एक स्वस्थ पहल भी है। अपनों से मिलने वाले सपोर्ट, कंफर्ट और केयर आपको प्रोत्साहित करने में काफी कारगर साबित हो सकता है। अपने करीबियों के लिए रिश्तों के झरोखों को हमेशा खोलकर रखें। उनसे अपने दिल की बात करें। जब जरूरत हो तो गले लगकर खूब रो भी लें। इसके बाद आप हैरान होंगे कि कैसे आप हल्का और फ्रेश महसूस कर रहे हैं। इससे आपको अपने एक्स पार्टनर को भुलाने में भी मदद मिलेगी।

सोशल मीडिया से ब्रेक लें

लंबा रिश्ता में रहने के बाद अक्सर कोई भी इंसान अपने एक्स पार्टनर के साथ बिताए पुराने ख्यालों से जल्दी बाहर नहीं निकल पाता है। वह गाहे-बगाहे सोशल मीडिया पर एक्स पार्टनर रहे अपनी पूर्व प्रेमिका या प्रेमी को स्टॉकिंग करने से बाज नहीं आता है। ऐसा करके आप अपने दुख से उबरने की बजाय उसमें और उलझ सकते हैं। स्टॉकिंग के दौरान सोशल मीडिया पर उसके स्टेट्स को चेक करते हैं या फीड को स्क्रॉल करते रहते हैं। भले ही शुरू में आपको यह समस्या जैसी कोई चीज़ न लगे, लेकिन अगर आप हर समय अपने एक्स पार्टनर को सोशल मीडिया पर स्टॉकिंग करते हैं, तो आप इस पीड़ा से कभी नहीं उबर सकते हैं। यह आपके लिए परेशानी का सबक बन सकता है। अगर आप चाहते हैं कि पुराने संबंधों को भूल कर जल्द से जल्द आगे बढ़ जाएं, तो सबसे पहले आप सोशल मीडिया के जितने भी प्लेटफॉर्म हैं उससे दूरी बना लें। यहां तक कि अपने एक्स पार्टनर से भी। रिश्तों के खत्म होने के बाद इस तरह का कोई भी जुड़ाव या नाता आपके दुख को सिर्फ बढ़ा सकता है। साथ ही आपको इस स्थिति से बाहर आने में रुकावट ही पैदा कर सकता है

खुद से प्रेम की आदत डालें

जब आप किसी खत्म हो चुके रिश्तों को छोड़ कर आगे बढ़ने की कोशिश करते हैं, तो आत्म-दया जैसे भाव पैदा होना स्वाभाविक है। ब्रेकअप से आपको खुद पर संदेह व अपने प्रति घृणा होने लगेगी। लेकिन ब्रेकअप होना जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है। दरअसल, जब आप किसी के साथ लंबे समय तक रिलेशनशिप में रहते हैं और उसके साथ ही भविष्य में रहने के सपने बुनने लगते हैं। तब उसके अचानक चले जाने से आपको व्यक्तिगत तौर पर काफी क्षति होती है। इस स्थिति से बाहर आने में खुद से प्यार करने की आदत एक महत्वपूर्ण पहल हो सकती है। अपने खत्म हो चुके रिश्ते को एक अवसर के रूप में लें और खुद से प्रेम करने की आदत डालें। खुद को नई चीज़ों के लिए तैयार करके और व्यस्त रखकर आप काफी खुशी महसूस करेंगे। आप अपनी पुरानी हॉबी को दोबारा शुरू कर सकते हैं या कुछ नया सीखने की सोचें। साथ ही आप चाहें तो बाहर निकलकर घूम सकते हैं। उन सभी चीज़ों को करें, जो आपके मुरझाए चेहरे पर खुशी ला सकती है। इसलिए अपनी खुशी के लिए अभी से सोचना शुरू कर दें।

सोलो ट्रिप पर जाएं

यदि लंबा रिश्ता अचानक खत्म हो जाए तो ऐसे में आप लाइफ में सिर्फ एक भावनात्मक बोझ के तले दबे रह जाते हैं। ऐसी स्थिति में ट्रैवलिंग करने का उत्साह आपको दुख के गहरे समुद्र में डूबने से बचा सकता है। साथ ही ब्रेकअप के बाद उबरने वाले कष्ट से भी राहत दिला सकता है। अगर आप ट्रिप पर जाने की सोच रहे हैं, तो ऐसे जगह की तलाश करें, जो आपको कुछ नया और सुकून भरा माहौल दे सके। ब्रेकअप के बाद सोलो ट्रिप आपको फिर से जवां महसूस करा सकता है और ब्रेकअप से उबरने में आपकी मदद कर सकता है। इससे न सिर्फ नई यादें विकसित होंगी, बल्कि आप आत्मनिर्भर बन सकेंगे और खुद से जुड़ा हुआ महसूस करेंगे।

भविष्य के लिए योजना बनाएं

जब कोई लंबे समय तक चलने वाला रिलेशनशिप अचानक खत्म हो जाता है, तो एक्स पार्टनर की पुरानी यादों में खोए-खोए रहना बहुत ही आसान लगता है। जब आप अपने पार्टनर के साथ बिताए पलों को याद करते हैं और आगे उसके बिना जीवन बिताने की सोचने मात्र से ही मन सिहर उठता है। ब्रेकअप जैसी स्थिति से बाहर आने के लिए सबसे पहले आपको खुद से पहल करनी पड़ेगी। सबसे पहले अपने दिमाग से इस बात को तुरंत निकाल दें कि किसी परिस्थिति को काबू कैसे करें। दुख के पलों से बाहर निकलने के लिए पहले खुद को समय दें। ब्रेकअप से उबरने के लिए कभी-कभी आप उस रिश्ते के बारे में सोच सकते हैं, लेकिन आपके दिलो-दिमाग में भविष्य की योजनाओं का भी ख्याल जरूर रखना है। अपना कुछ लक्ष्य बनाएं और एक-एक करके उन्हें पूरा करने की कोशिश भी करें। जब आप अपने बारे में सोचना शुरू कर देंगे, तो पुरानी यादें खुद-ब-खुद गायब हो जाएंगी और धीरे-धीरे आप बेहतर उद्देश्यों के साथ आगे बढ़ सकेंगे।

X

आनंदमय और स्वस्थ जीवन आपसे कुछ ही क्लिक्स दूर है

सकारात्मकता, सुखी जीवन और प्रेरणा के अपने दैनिक फीड के लिए सदस्यता लें।